WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Raksha Bandhan 2023 Muhurat Time: रक्षाबंधन 30 और 31 अगस्त 2023 पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त और समय यहां से देखें

Raksha Bandhan 2023 Muhurat Time: रक्षाबंधन 30 और 31 अगस्त 2023 पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त और समय यहां से देखें

Raksha Bandhan 2023 Muhurat Time – हिंदू धर्म में रक्षाबंधन का त्योहार भाई-बहन के लिए बहुत खास होता है। यह त्यौहार हर साल बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इस त्योहार का बेसब्री से इंतजार रहता है।  आपको बता दे की इस बार रक्षाबंधन 30 और 31 अगस्त दोनों दिन मनाया जा रहा है। राखी का त्यौहार भाई-बहन के प्यार का प्रतीक है। इस दिन बहनें अपने भाई की कलाई पर राखी बांधती हैं। और उनकी सलामती के लिए प्रार्थना करती है।  वहीं, भाई भी राखी बांधने के बाद उपहार देते समय हमेशा बहन की रक्षा का वचन देता है। हिंदू कैलेंडर के अनुसार, भाई-बहन के स्नेह का प्रतीक रक्षाबंधन या राखी का त्योहार श्रावण शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है। Raksha Bandhan 2023 Muhurat Time

Raksha Bandhan 2023 Muhurat Time: रक्षाबंधन 30 और 31 अगस्त 2023 पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त और समय यहां से देखें
Raksha Bandhan 2023 Muhurat Time: रक्षाबंधन 30 और 31 अगस्त 2023 पर राखी बांधने का शुभ मुहूर्त और समय यहां से देखें

Raksha Bandhan 2023 Muhurat Time

इस साल 2023 में पूर्णिमा तिथि 30 अगस्त को पूरे दिन और 31 अगस्त को सुबह 7:05 बजे तक रहेगी। इसमें 30 अगस्त को सुबह 10:58 बजे से रात 9:02 बजे तक भद्रा रहेगी। 30 अगस्त को पूर्णिमा तिथि के साथ ही भद्रा काल सुबह 10:58 बजे से शुरू हो रहा है। शास्त्रों में भद्रा काल में राखी बांधना अशुभ माना गया है। इसलिए यहां हम राखी बांधने का शुभ समय बता रहे हैं। शास्त्रों के अनुसार भद्रा काल में रक्षाबंधन नहीं मनाना चाहिए। इसलिए राखी बांधने का शुभ समय नीचे दिया गया है। Raksha Bandhan 2023 Muhurat Time

रक्षा बंधन 2023 मुहूर्त समय: आप 30 अगस्त 2023 को भद्राकाल समाप्त होने के बाद 31 अगस्त 2023 को रात 9:03 बजे से सुबह 7:05 बजे तक राखी बांध सकते हैं।

  1. अमृत सर्वोत्तम मुहूर्त: 30 अगस्त 2023 को सुबह 9:34 से 10:58 तक रहेगा.
  2. उपयुक्त समय: राखी बांधने का सही समय 30 अगस्त 2023 को रात 9:03 बजे से 31 अगस्त 2023 को सुबह 7:05 बजे तक रहेगा।

रेशमी धागे या सूती धागे वाली राखी सदैव सर्वोत्तम मानी जाती है। इसके बाद सोने और चांदी से बनी राखियां अच्छी मानी जाती हैं। लेकिन अपने भाई को प्लास्टिक आदि से बनी राखी न बांधें। राखी बांधने से पहले बहन और भाई दोनों को व्रत रखना चाहिए। भाई के दाहिने हाथ पर रक्षासूत्र बांधें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top